March 4, 2024

रोड ट्रैफिक नियमों को लेकर नौनिहालों को किया जागरूक

1 min read

बड़कोट। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण व परिवहन विभाग के संयुक्त तत्वावधान में सड़क सुरक्षा जागरूकता सप्ताह आयोजित हुआ जिसमें नौगाँव टैक्सी स्टेशन से जुड़े वाहन चलाको, राजकीय इंटर कालेज खरादी व पौंटी में नौनिहालों को जागरूक किया। एवं यातायात नियमों की शपथ दिलाई।

परिवहन कर अधिकारी विजय आर्य ने कहा कि सड़क सुरक्षा आज की तारीख में चिंता की एक बड़ी वजह है। हाल के दिनों में दुर्घटनाओं की संख्या में होने वाली बढ़ोतरी को देखते हुए माo हाईकोर्ट व विभाग की काफी सक्रिय हो गई है। इस कारण लोगों को रोड ट्रैफिक के नियमों को समझने में आसानी होती है। आपको बता दें कि राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा सप्ताह 01 से 15 सितंबर तक मनाया जाता है

जिला विधिक सेवा प्राधिकरण व परिवहन विभाग द्वारा आयोजित इस सप्ताह का उद्देश्य लोगों को सड़क सुरक्षा के बारे जागरूक करना है। सड़क सुरक्षा लोगों के सेफ्टी से जुड़ा हुआ है
सड़क पर हर दिन कई घटनाएं होती है, जिसके कारण कुछ लोगों की मौत और कुछ घायल हो जाते हैं। इसका सबसे बड़ा कारण है लोगों को ट्रैफिक नियमों का पालन न करना जिसके कारण उनके साथ आस -पास के लोगों को घटना का शिकार होना पड़ता है। इसके लिए ही राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा सप्ताह को मनाया जाता है। पीएलवी सुनील थपलियाल ने कहा कि
राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा सप्ताह के दौरान, लापरवाह या लापरवाह ड्राइविंग के परिणामों के बारे में जनता को बताया जाता है इसको समझाने के लिए विभिन्न संगठन और समूह एक साथ आते हैं। इतना ही नहीं ये बात तो हर किसी तक पहुचे इसलिए इसे स्कूलों, सामुदायिक केंद्रों और कार्यस्थलों में प्रस्तुतियाँ और कार्यशालाएं में आयोजित करने से लेकर सुरक्षित ड्राइविंग की आदतों को बढ़ावा देने के उद्देश्य से अभियान चलाया जा रहा है।
आपको बता दे राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा सप्ताह पहली बार 1989 में शुरू हुआ था। 15 मार्च, 2010 को केंद्र ने सुंदर समिति द्वारा अनुशंसित राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा नीति को मंजूरी मिली थी। वहीं इसे यातायात नियमों के बारे में लोगों में जागरूकता बढ़ाने के उद्देश्य से शुरू किया गया था।

बढ़ते सड़क हादसों को लेकर सरकार गंभीर है। इसके लिए लोगों को भी अपनी जिम्मेदारी समझना होगा। पौंटी प्रधानाचार्य भागमल लाल ने कहा कि हमें स्कूल स्तर से ही बच्चों और युवाओं को सड़क के नियमों से अवगत कराना सुंदर पहल है। वहीं यातायात नियमों को लेकर जो लापरवाही बरत रहें उनके खिलाफ सख्ती करने की आवश्कता है। वहीं यदि दुर्भाग्यवश दुर्घटनाएं हो जाती हैं तो उसके बाद पीड़ित पक्ष को राहत पहुंचाने का काम शीघ्र अतिशीघ्र करना चाहिए। खरादी प्रधानाचार्य सुमन सिंह राणा ने कहा कि 60 फीसद सड़क हादसे लापरवाही से वाहन चलाने पर होते हैं, इसलिए वाहन सवार नियमों की अनदेखी करने से न चूकें।

इस मौके पर परिवहन काट अधिकारी विजय आर्य, पीएलवी सुनील थपलियाल ,पौंटी प्रधानाचार्य भागमल लाल, खरादी प्रधानाचार्य सुमन सिंह राणा, आशीष रमोला चंद्रप्रकाश भट्ट वीरेंद्र कुमार अनमोल सिंह राणा सनोज कुमार श्रीमती सीमा रावत श्रीमती रीना पवार प्रदीप पासवान अजीत सिंह सुमित भंडारी सहित दर्जनों लोग मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.